ग्राम पंचायत बसदेई में हरेली त्यौहार के साथ-साथ होगी छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की शुरुआत

CG आजतक न्यूज़

सूरजपुर अनिल साहू

सूरजपुर_ छत्तीसगढ़ के पारंपरिक खो-खो, कबड्डी, फुगड़ी, पिट्टूल जैसे अन्य खेलो को प्रोत्साहित करने खेल को लेकर स्थानीय प्रतिभाओं को निखारनें, खेलों के प्रति जागरूकता लाने, खिलाड़ियों को मंच प्रदान करने और खेल भावना का विकास करने के उद्देश्य से पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक 2023-24 का आयोजन 17 जुलाई को हरेली तिहार से किया जा रहा है। इस अवसर पर जिला स्तर कार्यक्रम का आयोजन ग्राम पंचायत बसदेई में कैबिनेट मंत्री व राज्य योजना आयोग के अध्यक्ष डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम की अध्यक्षता में आयोजित किया जाएगा।
कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने बताया कि छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक में आयु वर्ग को तीन वर्गों में रखा गया है। इसमें प्रथम वर्ग 18 वर्ष की आयु तक के प्रतिभागी होंगे। दूसरा वर्ग 18 से 40 वर्ष की आयु सीमा तक और तीसरे वर्ग में 40 वर्ष से अधिक उम्र के प्रतिभागी शामिल होंगे। सभी वर्गों में अनेक प्रकार के खेलों का समावेश किया गया है, जो पारंपरिक रूप से ग्रामीण इलाकों में खेला जाता है। उन्होंने बताया कि शासन की मंशा अनुसार ग्रामीण प्रतिभाओं एवं खेलों को बढ़ावा देने इसका आयोजन जिला स्तर पर हो रहा है।
सावन महीने के अमावस्या में हरेली का त्यौहार मनाया जाता है। हरेली मुख्यतः खेती-किसानी से जुड़ा पर्व है और यह छत्तीसगढ़ के प्रमुख पर्वाे में से एक है। इस त्यौहार के पहले तक किसान अपनी फसलों की बोआई या रोपाई कर लेते हैं और इस दिन कृषि संबंधी सभी यंत्रों नागर, गैंती, कुदाली, फावड़ा समेत कृषि के काम आने वाले सभी तरह के औजारों की साफ-सफाई कर उन्हें एक स्थान पर रखकर उसकी पूजा-अर्चना करते हैं। छत्तीसगढ़ की संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन के लिए इस वर्ष भी हरेली तिहार को व्यापक रूप से हर्षाेल्लास के साथ मनाया जाएगा। इसी दिन छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की शुरुआत जिले में हो रही है जिसमे जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन ग्राम बसदेई में किया जाएगा। छत्तीसगढ़िया ओलंपिक में सभी आयु वर्ग के प्रतिभागी भाग लेते हैं जिसमें महिला एवं पुरुष दोनों सम्मिलित हैं। गत वर्ष इन खेलों के आयोजनों में जिले के खिलाड़ियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया था एवं खिलाड़ियों ने विभिन्न स्तर पर जीत भी हासिल की थी।

anil sahu
Author: anil sahu

जिला प्रतिनिधि सूरजपुर

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer