कलेक्टर ने शिक्षा विभाग की ली समीक्षा बैठक, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने किया प्रेरित

कार्य में लापरवाही बरतने वाले प्राचार्यों की लगी क्लास, आगामी सत्र में सुधार हेतु दिए सख्त निर्देश

ड्रॉप आउट बच्चों पर विशेष फोकस करें, अभिभावकों से सम्पर्क कर उन्हें शिक्षा के प्रति करें प्रोत्साहित-कलेक्टर

अम्बिकापुर ब्यूरो 

 कलेक्टर श्री कुंदन कुमार ने आज जिले के शासकीय बहुद्देश्यीय माध्यमिक विद्यालय के सभाकक्ष में शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली।बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी,

सर्व विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, सभी विद्यालयों के प्राचार्य, सर्व सहायक विकासनखण्ड शिक्षा अधिकारी एवं सर्व विकासखण्ड स्त्रोत समन्वयक तथा विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने सभी प्राचार्यों से चर्चा करते हुए कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के प्रति प्रयासरत रहें। जिले में ड्राप आउट की समस्या पर निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि ड्रॉप आउट बच्चे सामान्यतः 10वीं तथा 12वीं के बाद बच्चे शिक्षा छोड़ देते हैं।

इस हेतु विद्यालय प्राचार्यों की यह महत्वपूर्ण भूमिका है कि वे अभिभावकों तथा बच्चों को प्रेरित करें, ताकि बेहतर भविष्य की ओर बच्चे आगे बढें

 उन्होंने उपस्थित प्राचार्यों से परिचर्चा कर आगामी सत्र हेतु बनायी गई कार्ययोजना के सम्बन्ध में जाना तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिए,

इस दौरान उपस्थित प्राचार्यों ने कलेक्टर के समक्ष अपना अनुभव भी साझा किया

उन्होंने कहा कि प्रत्येक प्राचार्य विद्यालय के मेधावी छात्रों का चयन करें तथा उन्हें मेरिट में स्थान हासिल करने प्रोत्साहित करें, इसके साथ ही विषय विशेष में कमजोर बच्चों को विशेष कक्षा देकर उन्हें शिक्षित करें।

बैठक में कलेक्टर ने सभी विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, सहायक विकासनखण्ड शिक्षा अधिकारी, संकुल समन्वयक को निर्देशित करते हुए कहा कि विद्यालयों का निरीक्षण करें,

अनुपस्थित शिक्षकों पर आवश्यक कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की समस्याओं या आवश्यकताओं को सीधे कलेक्टर तक अवगत कराएं, जिसका निराकरण 1 महीने के भीतर किया जाएगा।

सभी प्राचार्य अभिभावकों तथा शिक्षकों के साथ बैठक कर कि चर्चा प्लस प्लान तैयार करें, जिसमें आगामी सत्र हेतु विस्तृत योजना, और 15 अगस्त के पूर्व उपलब्ध कराएं, बेस्ट 3 प्लान का चयन कर उन्हें 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के दिन सम्मानित किया जाएगा।

बीईओ तथा एबीईईओ विकासनखण्ड स्तरीय योजना बनाएं।

बैठक में कलेक्टर श्री कुंदन ने राज्य स्तर पर परीक्षा परिणाम में जिले की स्थिति की समीक्षा की तथा गत सत्र में विद्यालयवार परीक्षा परिणाम के आंकड़ों का अवलोकन किया।

उन्होंने निम्न स्थान रखने वाले विद्यालय के प्राचार्यों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि बेहतर परिणाम हेतु प्रयास करें, आगामी तीन महीने बाद पुनः समीक्षा की जाएगी। इस दौरान प्रावीण्य सूची में आने योग्य विद्यार्थियों का चिन्हांकन सरस्वती सायकल एवं पाठ्यपुस्तक वितरण की स्थिति, जाति-आय- निवास प्रमाण पत्र निर्माण प्रगति की समीक्षा, मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना अन्तर्गत मरम्मत एवं नवीन निर्माण की प्रगति, विद्यालय में वृक्षारोपण स्वच्छता पेयजल विद्युत व्यवस्था की जानकारी, इंस्पायर अवार्ड मानक में पंजीयन की स्थिति, ड्राप आउट विद्यार्थियों की जानकारी, आई.सी.टी. स्मार्ट क्लास एक्शन रिसर्च नवाचारी गतिविधियों, विभिन्न दिवसों का आयोजन कर उनका प्रसार की जानकारी,विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु कोचिंग क्लासेस पर चर्चा की गई।

स्वीप गतिविधियों के तहत स्वतंत्र, शांतिपूर्ण निर्वाचन के लिए कलेक्टर ने दिलाई शपथ- कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कुंदन कुमार ने स्वीप गतिविधियों के तहत स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन के लिए वचन दिलाई।

कलेक्टर ने आगामी निर्वाचन में लोकतंत्र में अपनी पूर्ण आस्था रखते हुए लोकतांत्रिक मर्यादा बनाए रखने तथा स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा बनाए रखते हुए किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना सभी निर्वाचनों में अपने मताधिकार का उपयोग करने की शपथ दिलाई।

इसके साथ ही सभी प्राचार्यों को अपने विद्यालयों में बच्चों को भी शपथ दिलाने तथा अभिभावकों को मतदान हेतु प्रेरित किए जाने कहा।

 

Aashiq khan
Author: Aashiq khan

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer