आदिवासी महिलाओं के साथ मणिपुर अत्याचार को लेकर सर्व आदिवासीयों न विरोध जताया

CG  आजतक  न्यूज़

ब्यूरो अंबिकापुर सरगुजा

 

आदिवासी समाज के महिलाओं ऊपर हुआ मणिपुर में अत्याचार को लेकर सर्व आदिवासी समाज युवा प्रभाग ने पोस्टर के माध्यम से जताया बिरोध

____________________________

सूरजपुर -ब्रेकिंग 

आदिवासी समाज के महिलाओं ऊपर मणिपुर में हुए क्रुरता को लेकर सर्व आदिवासी समाज युवा प्रभाग छत्तीसगढ़ के अहवान पर पूरे प्रदेश भर में पोस्टर के माध्यम से मणिपुर सरकार की निंदा कर विरोध की है |

और दोषियों पर जल्द कार्यवाही की मांग समाज के लोगों ने करते हुए मणिपुर में तत्काल राष्ट्रपति शासन लागु करने की मांग की है |

सर्व आदिवासी समाज युवा प्रभाग सूरजपुर के जिला अध्यक्ष एवं सरगुजा संभाग प्रभारी – राजा क्षितिज ऊईके ने कहा की मणिपुर में महिलाओं के साथ क्रुरता पूर्वक दुराचार किया गया है | वे देश के लिए काला दिवस है |

मणिपुर की हालात बहुत ही गंभीर है |

मणिपुर में आदिवासियों के साथ हो रहे अन्याय अत्याचार पर मणिपुर की सरकार उस पर काबू नहीं पा रहे हैं |वहाँ की 65000- से लेकर 70000 आदिवासी परिवार ने राहत की तंबू में रहने के लिए विवस हैं | और लगभग (100000) एक लाख से लेकर (150000) डेढ़ लाख आदिवासी लोग अपनी जान बचाकर जंगल की ओर रहने के लिए विवस हैं | और इतना सब कुछ होने के बावजूद भी मणिपुर राज्य सरकार हांथ के हांथ धरी तथा आंख मुंद कर बैठे हुए हैं | और केंद्र में बैठी मोदी सरकार भी चुप्पी साधे बैठे हुआ है | और केंद्र सरकार बड़ी – बड़ी बातें करती है | पर मणिपुर की हालात पर गुंगे बने बैठे हुऐ हैं | मणिपुर की महामहिम राज्यपाल को टीवी में आकर पीडा सुनाना पड रहा है | आज मणिपुर की स्थिति को देखते हुए वहां तत्काल राष्ट्रपति शासन लागु करने की जरूरत है |

Aashiq khan
Author: Aashiq khan

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer