सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2023 कलेक्टर के मार्गदर्शन में सर्वेक्षित परिवारों का सत्यापन कार्य प्रारम्भ

तेजी से जारी है सत्यापन, 16 हजार से अधिक परिवारों का सत्यापन पूर्ण

 

अम्बिकापुर/ब्यूरो 

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार राज्य में विभिन्न योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को लाभ दिलाने के उद्देश्य से 1 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण कार्य किया गया।

जिले में कलेक्टर श्री कुंदन कुमार के मार्गदर्शन में ग्रामीण क्षेत्र में निवासरत परिवारों की सर्वे के माध्यम से जानकारी एकत्र कर ली गई है

 अब राज्य शासन के निर्देशानुसार 24 जुलाई से सर्वे किए गए परिवारों का सत्यापन कार्य शुरू कर दिया गया है, सत्यापन हेतु जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं नोडल अधिकारी श्री नूतन कुमार कंवर द्वारा जिला स्तरीय कंट्रोल रूम में अधिकारी तथा कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

कंट्रोल रूम के माध्यम से प्रतिदिन सत्यापन कार्य की रिपोर्टिंग की जा रही है।

जिले में कुल 76 हजार 18 सर्वेक्षित परिवारों में से 16 हजार 328 परिवारों का सत्यापन कार्य पूर्ण कर लिया गया है।

सत्यापन का कार्य सर्वेक्षण कार्य हेतु पूर्व में गठित दलों से कराया जा रहा है, इस हेतु पटवारी एवं ग्राम पंचायत सचिव सदस्य हैं।

सत्यापन हेतु सर्वे डाटा के अनुसार परिवारों की सूची पोर्टल में जनपद लॉगिन अंतर्गत प्रदाय किया गया है, जिसमें प्रत्येक परिवार के विवरण की जानकारी उपलब्ध है।

राज्य स्तर से सत्यापन हेतु मोबाईल एप्लीकेशन उपलब्ध है, जिसके माध्यम से सत्यापन का कार्य किया जा रहा है। सत्यापन हेतु प्रत्येक ग्राम पंचायत का लॉगिन आई.डी. एवं पासवर्ड जनपद स्तर पर उपलब्ध है।

मास्टर ट्रेनर्स द्वारा एप लॉग-इन डाटा डाउनलोड एवं फीडिंग तथा सत्यापन का प्रैक्टिकल आदि का प्रशिक्षण सुपरवाईजरों को जिला स्तर पर प्रदान किया गया है।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण 2023 शासन का एक महत्वपूर्ण कार्य है।

शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का जनसामान्य के जीवन स्तर पर पड़े प्रभाव का आकलन कर, प्राप्त डाटा का भविष्य में योजनाओं के बेहतर कियान्वयन तथा नई योजनाओं के निर्माण हेतु उपयोग किया जाना है l

Aashiq khan
Author: Aashiq khan

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer