सूरजपुर जिले मे गुपचुप तरीके से चल रहा मवेशी तस्करी

CG आजतक न्यूज़

ब्यूरो अंबिकापुर सरगुजा

 

सूरजपुर जिले मे गुप चुप तरीके से चल रहा मवेशी की  तस्करी,

पुलिस दें रहा संरक्षण सेटिंग मे चल रहा अवैध पशु तस्करी

बसदेई थाना अंतर्गत ग्राम जूर बनजा मे लोड किया जा रहा ट्रक qपिकप 

 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बसदेई थाना से महज कुछ ही दुरी पर ट्रको मे भरकर भैस भैसों कों लोड कर बुचड़ खाने ले जाने का मामला प्रकाश मे आया है,

बताया जाता है की बड़ी मात्रा मे मवेशियों की तस्करी बदस्तूर जारी है, किन्तु पुलिस थाना के स्टापो की मिली भगत व कमीशन खोरी के कारण यह गोरख धंधा काफी लम्बे समय से फल फूल रहा है, पुलिस के आंखों में धूल झोंक कर चल रही है अवैध गौ तस्करी,

 

 

आए दिन कहीं ना कहीं गौ तस्करी की घटनाएं सामने आ रही हैं।

शायद ही ऐसी कोई रात गुजरती होगी। जिस रात गौ तस्करी नही हो रही होगी ऐसा ही एक मामला सामने आया है

जिसमे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीते 22 अगस्त मंगलवार की रात ग्राम जूर से चार पिकप मवसियो को ठूस ठूस कर बुचड़ खाना रवाना कर

दिया गया इन तस्करों को पुलिस का एक अंश मात्र भी भय नहीं है क्योंकि अगर होता तो यूं बे फिक्र होकर ऐसे कारनामों को अंजाम नही दिया जाता।

एक व्यक्ति ने नाम ना छापने की शर्त में बताया की कुछ तो ऐसे भी जगह हैं जहां से गाड़ी पार करने का 15 हजार महीना तो कहीं 2o हजार रुपए प्रति गाड़ी लेकर गौ तस्करों को बॉर्डर पार करने का संरक्षण दिया जा रहा है

,सूत्रों बताया  की मवेशी सूरजपुर जिले के आसपस  गांव के ही निवासी  बताये जा रहे,

सूरजपुर जिले के गौ तस्कर हैं जो की पूर्व में भी गौ तस्करी में संलिप्त रहे हैं

अब वह पुनः बिना किसी डर और रोक टोक के अपनी गाडियां पार करवा रहें है,

ऐसे तस्करों के इतने हौसले कैसे बुलंद हैं..? क्या इन तस्करों को पुलिस का भय नहीं है…?

ऐसे बहुत सारी बातें हैं जो इस पूरे मामले में कहीं ना कहीं किसी मिलीभगत की ओर इशारा कर रहा है,ऐसा लगता है की पैसे की लेनदेन के जरिए एक बहुत बड़ी तस्करी को अंजाम दिया जा रहा है।

 

आखिर कब तक गौ माता को कटने के लिए इन तस्करों के द्वारा ले जाया जाएगा,

आखिर कब तक इन तस्करों को पैसे और पहचान के दम पर संरक्षण मिलता रहेगा।

Aashiq khan
Author: Aashiq khan

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer