सेक्टर अधिकारी व पुलिस सेक्टर अधिकारियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ संपादित

सूरजपुर  अनिल साहू 07 सितंबर  जिले में आगामी विधानसभा निर्वाचन को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष रूप से कराने हेतु जिला निर्वाचन अधिकारी श्री संजय अग्रवाल  के निर्देशानुसार विधानसभा क्षेत्र 05-भटगांव एवं 06 प्रतापपुर के समस्त सेक्टर अधिकारी एवं सेक्टर पुलिस अधिकारियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम जिला पंचायत सूरजपुर के सभाकक्ष में सम्पन्न हुआ जिसमें प्रशिक्षण स्थल पर जिला निर्वाचन अधिकारी का आगमन हुआ एवं उनके द्वारा सेक्टर अधिकारियों एवं पुलिस सेक्टर अधिकारियों को अपने दायित्वों का निर्वहन निष्ठापूर्वक करने के निर्देश दिया गया। उन्होंने कहा कि सेक्टर ऑफिसर का पद निर्वाचन प्रक्रिया में अत्यंत महत्वपूर्ण पद है, सेक्टर अधिकारियों से यह अपेक्षा की जाती है कि उन्हें मतदान केन्द्र तक पहुंच मार्ग, मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन, चुनावी प्रबंधन मतदान प्रक्रिया ई.व्ही.एम की व्ही. पेट में त्रुटि, उसकी कार्यप्रणाली, आदर्श आचरण संहिता कानून व्यवस्था का ज्ञान रहे। उन्होने सेक्टर ऑफिसर को अपने सेक्टर के अधीन समस्त मतदान केन्द्रों में स्वतंत्र निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन सम्पन्न कराने के निर्देश दिये गये समस्त सेक्टर अधिकारियों को वेल्नेरेविबलिटी मैपिंग कमजोर मतदाताओं के  बसाहट, मोहल्लों का चिन्हांकन करना जिन्हें डरा धमकाकर मतदान करने से रोका जाता है ऐसे डराने धमकाने वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनके विरुद्ध प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने के निर्देश सेक्टर अधिकारियों को दिये। उनके द्वारा समस्त क्रिटिकल मतदान केन्द्रों में वेबकास्टिंग कराने के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।
उप जिला निर्वाचन अधिकारी डी प्रियंका वर्मा द्वारा ई.व्ही.एम. एवं ही कही. पेट का संयोजन, ई. वही.एम एवं शी.व्ही. पैट का रिप्लेसमेंट नियम, मतदाता रजिस्टर प्रारूप- 17 क. मतपत्र लेखा प्रारूप- 17 ग के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि सेक्टर अधिकारी प्रत्येक मतदान दल द्वारा तैयार मतपत्र लेखा प्रारूप-17 ग का पुनः जांच करें और देखें कि दस्तावेज सही ढंग से भरा गया है।
जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर श्री प्रेमचंद सोनी प्राचार्य के द्वारा सेक्टर अधिकारियों के कार्य एवं उत्तरदायित्वों को पी.पी.टी. के माध्यम से विस्तारपूर्वक बताया गया सेक्टर ऑफिसरों के कार्य जिम्मेदारी निर्वाचन ड्यूटी आदेश मिलने के साथ शुरू हो जाती है और मतदान समाप्ति तक बनी रहती है तब तक कि उनके सेक्टर के अन्तर्गत सभी मतदान केन्द्रों की मतदान सामग्री एवं समस्त प्रपत्र जमा न हो जाये सेक्टर ऑफिसरों को मतदान के पूर्व मतदान केन्द्र संबंधी कार्य, मतदान सामग्री वितरण दिवस के कार्य मतदान दिवस के एक दिन पूर्व के कार्य और मतदान दिवस के कार्य के बारे में बताया गया। मतदान केन्द्र के पहुँच मार्ग का भौतिक सत्यापन मतदान केन्द्रों में सुनिश्चित न्यूनतम सुविधाएं – भवन   की स्थिति, पर्याप्त फर्नीचर, पेयजल, बिजली,   शौचालय  , छाया, रैम्प की जानकारी देने हेतु सभी सेक्टर अधिकारियों को क्षेत्र भ्रमण करने के लिए कहा गया। सेक्टर अधिकारियों को वल्नरेबिलिटी मैपिंग एवं क्रिटिकल मतदान केन्द्रों का चिन्हांकन के मापदण्डों के बारे में बताया गया। सेक्टर अधिकारियों को रूट चार्ट के संबंध में जानकारी दी गई। मतदान केन्द्रों तक पहुंचने के लिए उचित वाहन, मतदान केन्द्रों के बीच पहुंचने का छोटा रास्ता पहुंचने में लगा समय मतदान केन्द्रों के बीच की वास्तविक दूरी मतदान केन्द्रों तक पहुंचने के वैकल्पिक मार्ग मतदान केन्द्रों पर मोबाइल कनेक्टिविटी, कम्युनिकेशन प्लान हेतु मतदान क्षेत्र में कार्यरत जमीनी कर्मचारियों के बी. एल. ओ.   ग्राम सचिव पटवारी, आगनबाड़ी कार्यकर्ता मतदान केन्दों के जिम्मेदार कर्मचारी का मोबाईल नम्बर एवं नाम प्राप्त करने हेतु सेक्टर अधिकारियों को कहा गया।

anil sahu
Author: anil sahu

जिला प्रतिनिधि सूरजपुर

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer