भालू ने किया था महिला को लहूलुहान प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ने बटोरी वाहवाही डॉक्टर के सूझबूझ से महिला की जान बची माना जाता है धरती में डॉक्टर को भगवान का दर्जा प्राप्त हुआ है।

मनेंद्रगढ़ ब्यूरो 

यह चरितार्थ हुआ जिला मनेद्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर के एक छोटे से गांव धर्मपुर-गुटरा निवासी श्रीमती फूलबाई उम्र 38 वर्ष का विगत 4 सितंबर को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिहारपुर में उनके पति श्री जयपाल सिंह ने लहूलुहान हालत में लाया था।

जानकारी के अनुसार महिला पर भालू ने जानलेवा हमला किया था, उसकी स्थिति काफी गंभीर थी। उनकी हालत को देखकर डॉक्टर को लगा यहाँ इलाज करने के बजाय किसी बड़े अस्पताल में किया जाए।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिहारपुर में पदस्थ डॉक्टर शर्मा ने अपने अनुभव और सूझबूझ के आधार पर तत्काल इलाज शुरु किया और छह घण्टे तक उपचार चला।

डॉ ने पीड़ित महिला के परिजनों को जिला अस्पताल ले जाने की बात कही लेकिन उन लोगों ने यहीं रहकर इलाज कराने पर भरोसा किया।

इस बात की जानकारी जिला मुख्यालय में पहुंचते ही डीपीएम श्री सुलेमान खान द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस. एस. सिंह ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का दौरा कर मरीज की जानकारी प्राप्त की।

जानकारी के मुताबिक मरीज की हालत पहले से बेहतर है। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, बिहारपुर में अपने इलाज से संतुष्ट है तो डॉक्टर को बताया भगवान।

Aashiq khan
Author: Aashiq khan

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer