निविदा नहीं खोलने से आक्रोशित ठेकेदारों ने लोनिवि के कार्यपालन अभियंता पर मनमानी का लगाया आरोप* **चहेते ठेकेदारों को पहुंचाया जा रहा है लाभ*

सूरजपुर अनिल साहू । निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता के खिलाफ ठेकेदारोना ने उसे समय हो हल्ला मचाते हुए आकर्षित हो उठे जब एक निविदा नहीं खोली जा रही थी, बताया जाता है कि कार्यपालन अभियंता अपने चहेते ठेकेदारो को काम देना चाहते हैं और उन्हीं के दबाव में आकर निविदा नहीं खोली जा रही है।कार्यपालन अभियंता से निविदा खोलने ठेकेदार अनुनय विनय करने लगे मगर वह किसी प्रकार का कोई रुचि नहीं दिखाये और बंगले चले गए जिस पर ठेकेदार बंगले पहुंच गए।उक्त निविदा नहीं खुलने से ठेकेदार मायूस है और कार्यपालन अभियंता पर मनमानी करने का आरोप लगा रहे हैं।
मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को छत्तीसगढ़ कॉन्ट्रेक्टर एसोसिऐशन ने कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग संभाग निविदा खोलने के संबंध में एक ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में कहा गया है कि निविदा क्र. 2919 / NIT – 14 / 2023-24 / व. ले.लि. दिनांक 25.08.2023 उपरोक्त संदर्भित्र कार्य के लिये कुछ ठेकेदारो द्वारा निविदा में भाग लिया गया जिसमें 7-8 ठेकेदार द्वारा निविदा समय सीमा के अन्दर डालकर आपके विभाग द्वारा 12.09.2023 को सायं 5.30 PM जो निविदा में समय सीमा एवं टाईम थी इसके अंतर्गत रिसीवड किया गया किन्तु एक-दो ठेकेदार जिनकी निविदा समय सीमा पर नहीं पहुँची उसके लिख कर देने से आपके द्वारा मौखिक रूप से बोला गया कि निविदा निरस्त किया जावेगा इससे यह स्पष्ट होता है कि जिन 7-8 ठेकेदारों का निविदा समय पर पहुंचा है उसे आपके द्वारा नहीं खोला जा रहा है। ठेकेदारों ने आरोप लगाया कि उससे यही प्रतीत हो रहा है कि उस ठेकेदार से आपकी मिली भगत है और आपके द्वारा स्पष्ट यही किया जा रहा है ऐसे में यदि आप आज जो निविदा बिना कारण के नही खोलते है एवं निरस्त होता है तो क्या ऐसे ही भविष्य में किसी भी ठेकेदार को लिखकर देने से निरस्त कर दिया जायेगा क्या यदि ऐसे ही है तो कृपया आप लिख कर देंगे कि ऐसे ही भविष्य में किया जावेगा। ठेकेदारों ने कहा कि 13 तारीख को निवेदक खोलना था लेकिन 14 तारीख आज हो गया निविदा नहीं खोला गया है कोई ठेकेदारों ने अधिकारी का इंतजार करते रहे की कुछ जवाब देंगे क्यों नहीं खोला जा रहा है वही अधिकारी ना आफिस में बैठना उचित नहीं समझ रहे थे जिसमें ठेकेदारों ने नाराजगी जताते हुए उनके बंगले में पहुंचकर आक्रोश व्यक्त किया तब जाकर कार्यपालन अधिकारी ने उन्हें आश्वासन दिया है कि इसमें विचार किया जाएगा बताया जाता है कि कार्यपालन अभियंता के रवैया से ठेकेदार ही नहीं बल्कि विभाग के अधिकारी कर्मचारी भी बेहद खफा हैं वे अपना मनमानी चलाना चाहते हैं जिससे क्षेत्र में निर्माण कार्यों की स्थिति भी चरमरा गई है।

anil sahu
Author: anil sahu

जिला प्रतिनिधि सूरजपुर

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer