सड़क नहीं होने से खाट में मरीज को ढोने की मजबूरी* *कोट गांव के लोग सड़क के लिए तरस रहे*

 

सूरजपुर अनिल साहू । सड़क नहीं होने से लोगों को आवागमन के लिए तो दिक्कत हो ही रहा है सबसे बड़ी मुसीबत उस समय ग्रामीणों को झेलनी पड़ती है जब कोई बीमार हो जाए।एक मामला ऐसा ही समीपस्थ गांव कोट में उस समय देखने को मिला जब इसी गांव के डूमरभावना पारा का 50 वर्षीय दिलबोध यादव की गुरुवार को तबीयत बिगड़ गई और 108 एम्बुलेंस पहुंची तो गांव तक सड़क नहीं होने से मरीज को खाट में ढोकर लाना पड़ा जिसे फिर सड़क में एंबुलेंस में सवार कर अस्पताल लाया गया। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क की मांग इस गांव में बहुत पहले से की जा रही है मगर नेता व अधिकारी किसी ने नही सुनी,जिससे ग्रामीणों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है उस समय तो और स्थिति खराब हो जाती है जब लोग बीमार हो जाएं और हॉस्पिटल जाना पड़ता है बड़ा मुश्किल में किसी तरह अस्पताल पहुंचा जाता है।मरीज दिलबोध यादव को खाट में ढोकर सड़क तक लाया गया और एंबुलेंस की मदद से उसे अस्पताल पहुंचाया गया। एंबुलेंस में एमटीओ वीरेंद्र कुशवाहा, पायलट उमेश साहू ने सहयोग किया जिससे मरीज का समुचित इलाज प्रारंभ हो सका है।

anil sahu
Author: anil sahu

जिला प्रतिनिधि सूरजपुर

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer