कलेक्टर ने बारदाना व धान खरीदी केन्द्रों में समुचित व्यवस्था करने को दिए निर्देश समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 16 केन्द्रों से होगी कम्प्यूटर ऑपरेटर समय-सीमा में ले बारीकी से प्रशिक्षण

कोरिया  नीरज साहू 22 सितम्बर कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह की अध्यक्षता में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित, कोरिया के अधिकारियों, कर्मचारियों की बैठक लेकर धान खरीदी, बारदाना व अन्य विषयों पर समीक्षा बैठक कर गहन चर्चा की। कलेक्टर श्री लंगेह ने कहा कि यह कार्य राज्य शासन द्वारा संचालित महत्वपूर्ण कार्यक्रम में एक है। राज्य शासन द्वारा किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से विगत वर्षाे से अतिरिक्त अनुदान राशि दी जा रही है, वहींे जिले में धान बेचने वाले किसानों की संख्या और धान की मात्रा भी बढ़ी है।
बैठक में धान खरीदी के साथ-साथ समितियों की व्यवस्थाओं, धान के रख-रखाव, ट्रांसर्पाेटेशन, अधिकारियों और कर्मचारियों का प्रशिक्षण, कस्टम मिलिंग आदि महत्वपूर्ण विषयों पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। श्री लंगेह ने धान खरीदी की शुरूआत से धान की गुणवत्ता, बारदाने की व्यवस्था, स्टेकिंग, रखरखाव, सुरक्षा, उठाव और गुणवत्ता आदि पर विशेष रूप से ध्यान रखने को कहा। उन्होंने पिछले वर्षाे की कमियों, कठिनाइयों और व्यवहारिक दिक्कतों पर चर्चा करते हुए उनका समाधान करने के निर्देश दिए। अरवा चावल मिलिंग के लिए मिलर्स का पंजीयन करवाने के निर्देश भी दिए। कलेक्टर श्री लंगेह ने बारदाने की व्यवस्था के लिए बारदाना सुपरवाइजर बनाने को कहा। उन्होंने पीडीएस और मिलर्स से भी बारदानों की व्यवस्था करने को कहा। उन्होंने धान खरीदी केद्रों में निर्माणाधीन चबूतरों को समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश भी दिए। बैठक में जिले के किसानों को वर्मी खाद, सुपर कम्पोस्ट वितरण के बारे में जानकारी प्राप्त की।
समितियांे से किसान पंजीयन, नाम और उनके रकबे की जानकारी समितियों में प्रदर्शित करने के निर्देश भी दिए। उपार्जन केद्रों में शार्टेज की स्थिति की समीक्षा की गई। जीरो शार्टेज का लक्ष्य बनाकर धान खरीदी करने कहा गया। खरीदी केद्रों में बारिश से बचाव की तैयारी करने, पानी भरने की समस्या हो तो जल निकासी की व्यवस्था, पेयजल, गेट, अग्निशमन, प्राथमिक उपचार आदि सभी तैयारी करने समय पूर्व करने कहा गया। कम्प्यूटर ऑपरेटरों का बारीकी से प्रशिक्षण, समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर श्री लंगेह ने कहा कि कोरिया जिले की सीमा मध्यप्रदेश राज्य से लगती है। सीमा पार से धान आने की संभावना को देखते हुए यह जरूरी है कि इन क्षेत्रों की विशेष निगरानी रखी जाए, जिससे धान के अवैध परिवहन को रोका जा सकें तथा उनकी धर-पकड़ की जा सकें।
बता दें जिले में 16 धान खरीदी केन्द्र जामपारा, धीराटिकरा, सरमोका, पटना, गिरजापुर, तरगवां, झरनापारा, छिन्दडांड, सलबा, सोनहत, रजौली, रामगढ़, पोड़ी, जिल्दा, बैमा एवं चिरमी के माध्यम से खरीफ सीजन 2023-24 के लिए समर्थन मूल्य पर 131149.80 मेटरिक टन धान खरीदी का लक्ष्य है। खरीफ वर्ष 2023-24 हेतु जिले में 22 हजार 329 किसानों को अब-तक 50 करोड़ रूपए से अधिक की कृषि ऋण वितरण किया जा चुका है।
बैठक में संयुक्त कलेक्टर श्री नीलम टोप्पो, खाद्य अधिकारी, उप संचालक कृषि, उप पंजीयक सहकारी संस्थायें, जिला विपणन अधिकारी, अपैक्स बैंक के प्रबंधक, जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम, जिला प्रबंधक राज्य भण्डार गृह निगम सहित संबंधित विभाग के कर्मचारी भी उपस्थित थे।

neeraj kumar sahu
Author: neeraj kumar sahu

जिला प्रतिनिधि कोरिया

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer