स्वचछता, पोषण और स्वास्थ्य के विषय पर गम्भीरता से कार्य करने की आवश्यकता -कलेक्टर ब्लॉक डेव्हलपमेंट हेतु मंथन कक्ष में चिंतन शिविर का आयोजन

कोरिया नीरज साहू 22 सितम्बर आकांक्षी विकासखंड कार्यक्रम के अंतर्गत ब्लॉक डेव्हलपमेंट स्ट्रेटजी हेतु जिला स्तर पर एक चिंतन शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में उपस्थित कलेक्टर कोरिया श्री विनय लँगेह ने कहा कि स्वच्छता के सभी मापदण्ड पर काम करते हुए हमें पोषण और स्वास्थ्य की दिशा में तेजी से काम करना होगा। उन्होंने कहा कि विकास की गति के साथ हमे ध्यान रखना होगा कि भूजल स्तर की गिरावट को ध्यान में रखकर ज्यादा से ज्यादा वर्षा जल को खेती के लिए उपयोग करने की व्यवस्था को सुधारने की जरूरत है। विदित हो कि नीति आयोग द्वारा आजादी के अमृत काल में आकांक्षी जिले के अंतर्गत विकासखंड चयनित कर उनमें 39 विभिन्न क्षेत्रों में विशेष ध्यान रखते हुए विकास कार्य कराने की जरूरत है। समस्या है तो उसका जल्द से जल्द निराकरण कैसे करें यही इस शिविर का मुख्य लक्ष्य है। इसमें वही बिंदु रखे गए हैं जिनसे मानव संसाधन का विकास सही तरीके से हो। चिन्तन शिविर का आयोजन जिला योजना एवं सांख्यिकी विभाग के तत्वावधान में जिला पंचायत के मंथन कक्ष में आयोजित किया गया। इसमे जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ आशुतोष चतुर्वेदी सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। शिविर में कलेक्टर कोरिया ने सभी मानक बिन्दु पर एकत्र किए गए आंकड़ों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी विभाग अपने सम्बंधित विषयों पर वर्तमान आंकड़ो को दर्ज करते हुए स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, कृषि आदि सभी विषयों पर एक निश्चित लक्ष्य बनाकर काम करें और निर्धारण करने वाले बिन्दु का सही आकलन करते जाएं ताकि हम ब्लॉक डेवलपमेंट के लिए सही प्रदर्शन कर सकें। निचले स्तर पर इस शिविर के व्यापक प्रसार करने की जरूरत पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि नीति आयोग द्वारा जो फेलो नियुक्त किए जा रहे हैं उनसे निरन्तर सम्पर्क कर अपना काम करें। इसकी वह स्वयं प्रत्येक पखवाड़े में समीक्षा करेंगे ताकि विषयों पर विभागीय समन्वय स्थापित रहे और निर्धारित लक्ष्य प्राप्त किया जा सके।

neeraj kumar sahu
Author: neeraj kumar sahu

जिला प्रतिनिधि कोरिया

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer