उदयपुर सलका मे,ग्रामीण क्षेत्र की बुजुर्ग दादी अम्मा भी मतदान की

CG आजतक ब्यूरो

अंबिकापुर सरगुजा 

——————-

दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र कहे जाने वाले भारत का तीसरे चरण का चुनाव में जहां एक और सत प्रतिशत चुनाव संपन्न करने की दिशा में चुनाव आयोग समेत भारत सरकार एवं संबंधित राज्य सरकार द्वारा यू तो अनेक प्रयास किए गए ,

बावजूद इसके ऐसे मतदाता जिन्हें व्यक्तिगत रूप से सत प्रतिशत मतदान की कोई जानकारी ना हो कि लोकतंत्र को मजबूत करने हेतु हम सभी को मतदान करना उतना ही आवश्यक है

जितना की जीवन जीने के लिए भोजन और पानी की,, जी हां!

बात करें लोकसभा चुनाव 2024 की 7 मई को संपन्न तीसरे चरण के चुनाव में विकासखंड उदयपुर के ग्राम पंचायत सल का बूथ क्रमांक 239 में गत दो वर्षों से बेड रेस्ट में जीवन यापन करने वाली श्रीमती सरस्वती देवी पति स्वर्गीय श्री छोटेलाल गुप्ता निवासी ग्राम सलका ने बखूबी उत्साह पूर्वक अपनी शारीरिक पीड़ा को दरकिनार करते हुए

लोकतंत्र में अपना हिस्सेदारी जताते हुए व्हीलचेयर से मतदान केंद्र पहुंची और अपना मतदान कर लोकतंत्र की मजबूती में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की!

उनके इस सार्थक पहल से महिलाओं में वोट करने के प्रति एक अच्छी समझ व सोच पैदा हुई है,

इनकी अपनों के बीच जानकारी प्राप्त होने के बाद लोगों ने काफी प्रशंसा किया !

जबकि तकरीबन 85 वर्षीय श्रीमती सरस्वती देवी ने अपना अमूल्य मतदान से न सिर्फ एक वोट की कीमत समझते हुए अपितु देश की विकास में अपना मतदान देकर लोकतंत्र को मजबूत करने में अपने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की हैl

इसी तरह छत्तीसगढ़ के अनेक गांव शहर में भी बुजुर्ग माता बहनों ने मतदान कर एक आदर्श राष्ट्रीय सोच का नेता संसद का चुनाव करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमि का निभाया है,

इससे आने वाले पीढ़ी को निश्चित रूप से एक सबक विकास और राष्ट्र के मुख्य धारा से जुड़ने का अवसर मिलने के साथ ही मतदान के दूरगामी परिणाम एवं उनके कर्तव्यों के प्रति एक नई सोच पैदा हो सकेगा और लोगों को मतदान के प्रति संवेंशिलता नजर आएगी l

Aashiq khan
Author: Aashiq khan

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer