आईजी यातायात ने नोडल अधिकारी व प्रदेश के सभी यातायात प्रभारियों की ली वर्चुअल बैठक

अनिल साहू

सूरजपुर। छत्तीसगढ़ में अज्ञात वाहन से दुर्घटना होने पर मृतक के आश्रितों को 2 लाख तथा घायलों को 50 हजार रुपए मुआवजा दिए जाने की योजना के क्रियान्वयन तेजी से कराने एवं प्रत्येक सड़क दुर्घटना के मामले की सम्पूर्ण जानकारी आई-रेड पोर्टल पर अपलोड करने तथा सड़क दुर्घटना की दर कम करने व हादसों पर रोक लगाने की रणनीति पर काम करने को लेकर गुरूवार, 09 मई 2024 को आईजी यातायात रायपुर श्रीमती नेहा चम्पावत व एआईजी यातायात श्री संजय शर्मा के द्वारा सभी जिलों के नोडल अधिकारी व यातायात प्रभारियों की वर्चुअल बैठक का आयोजन किया गया।
इस वर्चुअल बैठक में आईजी श्रीमती नेहा चम्पावत ने कहा कि अज्ञात वाहन से दुर्घटना के मामले में मृतक के परिजन को 2 लाख रूपये एवं गंभीर रूप से घायल को 50 हजार रूपये देने का प्रावधान है इसके लिए 30 दिन के भीतर सभी सुसंगत दस्तावेज के साथ मोटर एक्सीडेंट ट्राइब्यूनल को राहत प्रकरण भेजना अनिवार्य है। जिले के समस्त थाना-चौकी प्रभारी ऐसे दुर्घटना के मामले में समय सीमा में प्रकरण प्रस्तुत करें तथा घटना होने के फौरन बाद मौके पर जाकर इसका इन्द्राज आईरेड में सभी जानकारी, फोटो-विडियों के साथ करने के निर्देश दिए गए। बैठक में सड़क दुर्घटना को रोकने के दिशा में रणनीति पर भी चर्चा हुई। वर्चुअल बैठक में यातायात प्रभारी बृजकिशोर पाण्डेय, डीआरएम जयप्रकाश मेश्राम मौजूद है।
उप पुलिस महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री एम.आर.आहिरे (भा.पु.से.) के निर्देशन व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री संतोष महतो के मार्गदर्शन में जिले के थाना-चौकी व यातायात प्रभारी के द्वारा सड़क हादसों को रोकने की दिशा में प्रभावी तौर पर कार्य किया जा रहा है साथ ही सभी सड़क हादसों के बारे में पूर्ण विवरण आईरेड पोर्टल पर अपलोड किया जा रहा है साथ ही यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों पर कार्यवाही भी लगातार जारी है।

anil sahu
Author: anil sahu

जिला प्रतिनिधि सूरजपुर

क्या गुजरात में आप की मौजूदगी से भाजपा को फायदा मिला?
  • Add your answer